किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना

किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन
किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन

किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन

 आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना l राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ l स्वास्थ्य बीमा योजना से फ्री इलाज कैसे करवाएं l अस्पताल में फ्री इलाज

महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना से किन अस्पतालों में फ्री इलाज करवाया जा सकता है.

आदि की पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को शुरू से आखिर तक पढ़े.

गरीब व जरूरतमंद लोगों को निजी व सरकारी अस्पताल में फ्री चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए,

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना को लागू किया गया है.

आयुष्‍मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना

गरीब व जरूरतमंद लोगों को फ्री चिकित्सा सुविधाएं व उपचार उपलब्ध करवाने के लिए महत्वकांक्षी आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब व जरूरतमंद लोगों को स्वास्थ्य चिकित्सा सुविधाएं फ्री में उपलब्ध करवाना है.

किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना

Ayushman Bharat-Mahatma Gandhi Rajasthan Health Insurance Scheme –

की शुरुआत हो चुकी है और इस योजना का लाभ राज्य के 1.10 करोड़ परिवारों को मिलेगा.

तथा लाभार्थी परिवार 1 साल में 5 लाख रुपए तक का इलाज फ्री करवा सकेगा.

 

यह योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई है

राजस्थान के मुख्‍यमंत्री श्रीमान अशोक गहलोत ने राष्ट्रपिता महात्‍मा गांधी की पुण्‍यतिथि पर यहां इसकी औपचारिक शुरुआत की. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्‍य के हर गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति को सरकारी व निजी अस्पतालों में निशुल्क उपचार के लिए राज्य सरकार ने ‘आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा’ योजना शुरू की है

 

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना में मिलने वाले लाभ के बारे में जाने

इस योजना में निर्धारित सामान्य बीमारियों के लिये 50 हजार रुपए एवं गंभीर बीमारियों के लिये 4 लाख 50 हजार रुपए प्रतिवर्ष बीमा मिलेगा. योजना के अंतर्गत विभिन्न बीमारियों के 1576 पैकेज शामिल किये गये है. योजना से संबंध निजी या सरकारी अस्पताल में लाभार्थी परिवार फ्री उपचार करवा सकता है. मरीज के अस्पताल में भर्ती होने से पांच दिन पहले का तथा डिस्चार्ज के बाद पंद्रह दिनों का चिकित्सा व्यय नि:शुल्क पैकेज में शामिल हैं.

इस योजना का उद्देश्य और इस योजना में खर्च होने वाली राशि

गरीब व जरूरतमंद लोगों को फ्री में उच्च गुणवत्ता का इलाज करवाने के लिए यह योजना बहुत उपयोगी साबित होगी.

इस योजना पर सालाना 1800 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है. इसमें से 80 प्रतिशत राशि राजस्‍थान सरकार देगी जो कि लगभग 1400 करोड़ रुपये बनता है, जबकि बाकी 400 करोड़ रुपये केंद्र सरकार देगी. राज्‍य के अधिक से अधिक लोगों को फायदा दिलाने के लिए यह कदम उठाया गया है.

राज्‍य के 1.10 करोड़ परिवारों को इस योजना का फायदा मिलेगा यानी दो तिहाई जनता इसके दायरे में आ जाएगी.

 

यह लोग उठा सकते हैं इस योजना का फायदा

केन्द्र सरकार द्वारा संचालित आयुष्मान भारत योजना में सामाजिक एवं आर्थिक जनगणना

2011 के आधार पर लाभार्थियों का चयन किए जाने के कारण राज्य के करीब 59 लाख परिवार ही पात्र थे लेकिन राजस्थान में विस्तृत रूप में लाई गई. इस योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के लाभार्थियों को भी जोड़कर

कुल 1.10 करोड़ परिवारों को लाभ दिया जा रहा है.स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है.

और वह इस दिशा में और आगे बढ़ेगी ताकि राजस्‍थान स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में अग्रणी बना रहे.

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई है कि यह योजना कामयाब होगी और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग इसका फायदा लेंगे.

 

आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना आवेदन प्रक्रिया

  • आयुष्मान भारत मिशन में यह उल्लेखित किया गया है कि आवेदक जो पहले से ही SECC 2011 की सूची में रजिस्टर्ड हैं वे इस स्वास्थ्य बीमा योजना के लाभार्थी होंगे.
  • लेकिन लाभार्थियों को अपनी रजिस्ट्रेशन फाइलिंग प्रोसेस को पूरा करने के लिए योजना से जुड़े अस्पताल में जाना होगा.
  • इसके लिए यह आवश्यक हैं की वे अपने साथ अपना आधार कार्ड एवं भामाशाह कार्ड लेकर जायें.
  • उस अस्पताल में एक विशेष आयुष्मान भारत महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा काउंटर होगा.
  • इस काउंटर में कुछ एजेंट होंगे, जिनकी यह जिम्मेदारी होगी कि वे लाभार्थी आवेदकों का नामांकन पूरा कराएं.
  • आवेदक को अपने सभी दस्तावेज एजेंट को देने हैं. इसके बाद उस एजेंट द्वारा लाभार्थी के डेटाबेस की जांच की जाएगी कि इच्छुक उम्मीदवार इस योजना के पात्र है या नहीं.
  • आपके द्वारा दी गई जानकारी सही होने और योजना के योग्य होने पर,
  • एजेंट ऑनलाइन फोरम मैं आवेदक की पूरी जानकारी भरेगा.
  • और उसके बाद इसे राज्य के डेटाबेस में सेव करके रख लिया जायेगा.
  • फिर वह साईट एक रजिस्ट्रेशन संख्या जनरेट करेगी और यहां रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और एजेंट द्वारा आवेदक के नाम से एक हेल्थ कार्ड जारी किया जायेगा.
  • इस हेल्थ कार्ड के माध्यम से लाभार्थी सभी सूचीबद्ध अस्पतालों में मुफ्त मेडिकल ईलाज सुविधाएं प्राप्त कर सकता है.
  • आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना गरीब व जरूरतमंद लोगों के लिए बहुत जरूरी है.
  • क्योंकि इससे गरीब लोगों को फ्री इलाज मिल पाएगा और उनका स्वास्थ्य भी स्वस्थ रहेगा.

 

यह भी पढ़ें

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास होने चाहिए यह दस्तावेज
अब आप भी ले सकते हैं प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का लाभ पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें
प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत आर्थिक सहायता पाने की जानकारी के लिए क्लिक करें
यदि आपका श्रमिक कार्ड बना हुआ है तो आप ले सकते हैं इन सरकारी योजनाओं का लाभ
तारबंदी योजना के तहत आप भी ले सकते हैं 40 हजार रुपे का लाभ जाने क्या है आवश्यक दस्तावेज
जाने कैसे लें बेरोजगारी भत्ता योजना का लाभ पूरी जानकारी के लिए क्लिक करें

 

#अस्पताल में फ्री इलाज , राजस्थान सरकार की योजना के तहत फ्री इलाज कैसे करवाएं, फ्री चिकित्सा सुविधाओं का लाभ कैसे लें,  प्राइवेट अस्पताल में फ्री इलाज कैसे करवाएं, आयुष्मान भारत योजना का लाभ कैसे लें, आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना  का लाभ कैसे लें, किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाएं, ऐसे करें आवेदन, Ayushman Bharat Yojana

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here