हिम सोन्दर्य घाटी ( सोने का मेदान ) की खूबसूरती यात्रियो को करती है अपनी ओर आकर्षित

सोने का मेदान - हिम सोन्दर्य की गोद मे बसी है रम्य घाटी जानिए इसकी प्रमुख विशेषताए

0
34
हिम-सोन्दर्य-घाटी ( सोने-का-मेदान ) की-खूबसूरती
हिम सोन्दर्य ( सोने का मेदान )

हिम सोन्दर्य घाटी ( सोने का मेदान ) की खूबसूरती यात्रियो को करती है अपनी ओर आकर्षित | Yatra In Hindi

 

 SearchDuniya.Com

हिम सोन्दर्य की घाटी लद्दाख मे है जो की अपनी सोंदर्यता के लिए प्रसिद्ध है हिम सोन्दर्य की घाटी सोने की तरह चमकती है । लद्दाख की धरती मे अलग-अलग रंग पाये जाते है ओर यहाँ की धरती अपने आप मे बहुत से रहस्यो को अपने अंदर समाई हुई है । यदि ऊपर आकाश से यहाँ की जमीन को देखा जाए तो

मिट्टी के रंग की जमीन पर बर्फ की चादर देखकर मन को बहुत ही आनंद मिलता है ।

इसके अलावा इस घाटी मे बर्फ से ढकी पहाड़ो की परछाइयाँ भी खूबसूरत काली जमीन के द्र्श्य को दिखती है ।

ओर जैसे ही कोई भी दर्शक इस धरती के पास आता है

तो उसको यह धरती ओर भी खूबसूरत ओर सुन्दर दिखाई देने लगती है ।

यहाँ पर फूलो की घाटियो के साथ-साथ लामाओ की लाइनों या कतरो को देखकर ऐसा लगता है

जैसे की किसी परिलोक मे आ गए हो।

 

हिम सोन्दर्य की गोद मे बसी है रम्य घाटी जानिए इसकी प्रमुख विशेषताए

लद्दाख का नाम आते ही बर्फ से भरपूर व बर्फ का चादर ओड़ी पर्वतीय-श्रंखलाए,

चिड़ ओर देवदार के व्रक्षों की लम्बी-लम्बी लाइने ओर रास्ते के वन, सर्पीले पर्वतीय-मार्गो,

जिनसे कभी बगलगीर होती ओर कभी जुदा होती नदियो की धाराओओ, सीढ़ीनुमा खेतो, फूलो की अनेक किस्मों या जंगली फूलो की बहार से सजी हुई इन्द्रधनुषी घाटियो, पशु-पक्षियो की विभिन प्रजातियों के समूह से भरे हुए अभयरण्य तथा प्रकृति की गोद मे झिलमिलाते सूखे पहाड़ो के द्र्श्य ऐसे दिमाग मे छप जाते है। यहाँ पर बर्फ से ढके पहाड़ प्रर्यटको को अपनी ओर आकर्षित करती है । तो दूसरी ओर सुखी बर्फ के बीच बसा लद्दाख गोम्पओ के लिए प्रसिद्ध है । जिसे छोटा तिब्बत भी कहते है । लद्दाख हिमालय मे उत्तर-पूर्व दिशा मे स्थित है । यहाँ पर समुद्रतल से 11500 फिट की ऊंचाई पर यह रम्य-घाटी बसी हुई है।

 

लद्दाख शुरू से ही रहस्यो से भरी भूमि के रूप मे जाना जाता है

यहा की भूमि को दर्रो की भूमि के रूप मे भी जाना जाता है ।

जो की समुद्र तल से 3500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ।

जो की लगभग 17000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल मे फेला होने के कारण राज्य का सबसे बड़ा प्रदेश है ।

लद्दाख अपने सोन्दर्य ओर खूबसूरती की विशेषताओ के कारण देशी-विदेशी प्रयेटको को अपनी ओर आकर्षित करता है।

यह प्रदेश बहुत सी जातियो, संसक्रतियों व भाषाओ के संगम से बना है इस प्रदेश को खूबसूरत प्रर्येटक स्थल के रूप मे जाना जाता है । जो की पाकिस्तान व चीन से घिरा हुआ है । लद्दाख पर्वतो के लिए बहुत लोकप्रिय है । ओर यहा के लोग मुख्य रूप से बौद्ध-धर्म के है ओर वे जीवन मे नाच-गानो को बहुत ही पसंद करते है । लद्दाख के लोगो के कपड़े रंग-रंगीले होते है।

 

लद्दाख के लोगो के वेशभूसा

लद्दाख के लोगो की बेशभूसा कुछ अलग ही है यहा के पुरुष गोच्छा ओर महिलाए कनटोप ओर बड़ी-बड़ी कानो तक को ढकने वाली टोपियाँ पहनने को पसंद करती है । जिसको पेरक कहा जाता है । लद्दाख का मुख्य आकर्षण केंद्र वसंत ऋतु का आरकेरी उत्सव है । ओर इस समय पूरा लद्दाख शादियो ओर उत्सव मे लिन रहता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here