सरकारी योजना एवं सरकारी नौकरियों की ताजा अपडेट के लिए टेलीग्राम जॉइन करें- Click Here
मंदिरयात्रा

बागेश्वर धाम कैसे जाएं, How to Reach Bageshwar Dham

बागेश्वर धाम मंदिर कैसे पहुंचे, बागेश्वर धाम कहां पर है

बागेश्वर धाम कैसे जाएं, How to Reach Bageshwar Dham

Bageshwar Dham Sarkar, Bageshwar Dham Kaise Pahunche, Bageshwar Dham Temple Location, Bageshwar Dham Mandir Kahan Hai, Bageshwar Dham Darshn, Bageshwar Dham Balaji, Pujya Bageshwar Dham, Bageshwar Dham Divya Darbar

बागेश्वर धाम कैसे जाएं: बागेश्वर धाम सरकार आज देश मे ही नहीं बल्कि विदेशों मे भी चर्चा का विषय बना हुआ है बागेश्वर धाम मंदिर मे आने वाले सभी भक्त अपनी अर्जी लगाकर समस्याओं का समाधान प्राप्त करते है। इस मंदिर के महाराज धीरेंद्र शास्‍त्री भक्तों की भविष्यवाणी करके उन्हे समस्याओं को मुक्ति पाने का उपाय बताते है। आज हम सभी अपने घर पर बैठकर बागेश्वर धाम के दर्शन कर सकते है। व इसकी आरती को भी लाइव देख सकते है।

बागेश्वर धाम क्यों है चर्चा में

इस समय सबसे अधिक चर्चा में बागेश्वर धाम है। इसकी प्रमुख वजह ये है की यहाँ बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री कहते है की उनपर भगवान हनुमानजी की उनपर विशेष कृपा है। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री हनुमानजी की कृपा व आशीर्वाद से ही लोगों की समस्याओं को दूर करते हैं। इसके साथ ही ऐसा माना जाता है की बागेश्वर धाम आने वाले सभी श्रद्धालुओं की समस्याएं दूर होती है।

बागेश्वर धाम सरकार

How to Reach Bageshwar Dham: बागेश्वर धाम भारत के मध्य प्रदेश राज्य के छतरपुर जिले में स्थित है जो की हनुमान जी एवं भगवान भोलेनाथ को समर्पित है। बागेश्वर धाम मंद‍िर के पीछे धीरेंद्र कृष्ण शास्‍त्री के दादा सेतुलाल गर्ग संन्‍यासी बाबा की समाध‍ि भी है। यह धाम मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में है जो की भारत के एक ऐतिहासिक शहर खजुराहो से मात्र 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह धाम एक हिन्दू तीर्थस्थल व मंदिर है। “बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे” How to Reach Bageshwar Dham इसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको यहां नीचे दी गई है।

बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे, How to Reach Bageshwar Dham

बागेश्वर धाम छतरपुर जिले के एक छोटे से कस्बे में स्थित है इसलिए यह आधुनिक विकास से वंचित है बागेश्वर धाम छतरपुर के निकट में ना तो रेलवे स्टेशन और न ही हवाई अड्डा स्थित है। यहां पर कोई बड़ा बस स्टैंड भी नहीं है। इसलिए आपको धाम पर पहुंचे में थोड़ी सी कठिनाई होगी लेकिन आप चिंता ना करें हम आपको बता दें की आपको बागेश्वर धाम से लगभग 20 से 25 किलोमीटर दूर खजूराहों के लिए गाड़ी पकड़नी होगी। अब यहां से आपको बागेश्वर धाम सरकार या बागेश्वर मंदिर के लिए पूरे दिन कभी भी गाड़ी मिल जाएगी। आप यहां से ऑटो या टैक्सी भी कर सकते है।

ट्रेन से बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे, How To Reach Bageshwar Dham Mandir By Train

बागेश्वर धाम का सबसे नजदीकी और बड़ा रेलवे स्टेशन खजुराहो रेलवे स्टेशन है, यह बागेश्वर धाम से लगभग 20 किलोमीटर दूर स्थित है। खजुराहो से रेलवे मार्ग द्वारा जुड़े शहरों के नाम आप यहां पर देख सकते हैं। करनाल, सोनीपत, कुरुक्षेत्र, पानीपत, फरीदाबाद, आगरा, मथुरा, नई दिल्ली, ग्वालियर, उदयपुर, अजमेर, चित्तौड़गढ़, प्रयागराज, उज्जैन, इंदौर, बरौनी, दानापुर, समस्तीपुर, हाजीपुर, मुंबई, भोपाल और जयपुर आदि के साथ साथ मध्य प्रदेश के बहुत सारे शहरों से जुड़ा हुआ है।

खजुराहो एक छोटा सा कस्बा होने के कारण रेल मार्ग से अच्छे से नहीं जुड़ा हुआ है। खजुराहो के लिए आपको अपने शहर से ट्रेन की सुविधा ना मिले, तो आप कानपुर सेंट्रल, प्रयागराज जंक्शन, ग्वालियर जंक्शन या फिर भोपाल जंक्शन के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं, जहां से खजुराहो शहर की दूरी करीब 240, 275, 280 और 365 किलोमीटर है।

फ्लाइट से बागेश्वर धाम कैसे जाएं, How To Reach Bageshwar Dham Chhatarpur By Flight

बागेश्वर धाम के नजदीक हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन की सुविधा नहीं है, इसलिए केवल सड़क मार्ग के द्वारा ही बागेश्वर धाम पहुंच सकते है। बागेश्वर धाम के नजदीकी एयरपोर्ट खजुराहो एयरपोर्ट है। खजुराहो एयरपोर्ट आने के लिए आप दिल्ली जैसे कुछ शहरों से फ्लाइट के माध्यम से खजुराहो एयरपोर्ट तक पहुंच सकते हैं। खजुराहो एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद वहां पर मिलने वाले स्थानीय परिवहन जैसे ऑटो, टैक्सी, आदि करके भी आप बागेश्वर धाम पहुंच सकते हैं।

बस से बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे, How To Reach Bageshwar Dham mp By Bus

बागेश्वर धाम सरकार एक छोटे-से गांव में स्थित है, इसलिए मध्य प्रदेश के भी सभी शहरों से बस द्वारा बागेश्वर धाम नहीं पहुंच सकते, लेकिन बागेश्वर धाम के नजदीकी शहर खजुराहो के लिए आपको मध्य प्रदेश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के कुछ शहरों से भी बस की सुविधा मिल जाएगी, इसलिए बागेश्वर धाम पहुँचने के लिए खजुराहो के लिए अपने शहर से बस पकड़ सकते हैं। खजुराहो से बागेश्वर धाम जाने के लिए आपको टैक्सी की सुविधा आसानी से मिल जाएगी।

बाइक और कार से बागेश्वर धाम कैसे पहुंचे, How To Reach Bageshwar Dham Chhatarpur MP By Bike And Car

आप छतरपुर पहुंचने के बाद, मध्यप्रदेश के ऐतिहासिक शहर खजुराहो के पड़ोस में स्थित होने की वजह से सड़क मार्ग के द्वारा बागेश्वर धाम आसानी से पहुंच सकते है। तो इस तरह आप आसानी से बागेश्वर धाम पहुँचकर दर्शन कर सकते हैं।

Bageshwar Dham Sarkar, बागेश्वर धाम के महाराज पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री

बागेश्‍वर धाम वाले धीरेंद्र शास्‍त्री का जन्‍म वर्ष 1996 में छतरपुर ज‍िले में हुआ और उनके प‍िता रामकृपाल गर्ग व उनकी माता सरोज की तीन संतानें हैं। धीरेंद्र शास्‍त्री का एक छोटा भाई है राम गर्ग और बहन रीता गर्ग। उनका नाम धीरेंद्र गर्ग है और उनकी मां उन्‍हें प्‍यार से धीरू बुलाती हैं।

बागेश्‍वर धाम वाले धीरेंद्र शास्‍त्री की शिक्षा

धीरेंद्र गर्ग की शुरुआती शिक्षा सरकारी स्‍कूल से शुरू हुई इसके बाद वे पास के गांव से ही हाईस्‍कूल व आगे की पढ़ाई पूरी की धीरेंद्र के पर‍िवार की आर्थिक स्थिति उस समय ठीक नहीं थी और उनके प‍िता पुरोह‍ित का काम क‍िया करते थे।

इसके के चलते धीरेंद्र गर्ग बड़े होने लगे और वे गांव के लोगों को कथा सुनाने लगे और ऐसा करते-करते उन्‍होंने वर्ष 2009 में पहली बार अपने गांव में ही पहली भागवत कथा सुनाई। इसके बाद उन्‍होंने अपने गांव के सबसे प्राचीन मंद‍िर ज‍िसमें भगवान श‍िव का ज्‍योर्त‍िल‍िंग है वहां वर्ष 2016 में गांववालों के सहयोग से यज्ञ का आयोजन क‍िया। इस मंद‍िर में महाराज की मूर्त‍ि की स्‍थापना की गई तब से यह स्‍थान बागेश्‍वर धाम के नाम से जाना जाने लगा।

धीरेंद्र शास्त्री के इस बागेश्वर धाम में प्रवेश कैसे मिलता है?

  • Bageshwar Dham में प्रवेश कैसे मिलता है और इसकी प्रक्रिया क्या है, यह जानना जरूरी है।
  • भक्तों को यह टोकन एक निश्चित तिथि पर बागेश्वर धाम की पेटी में डालना होता है।
  • इस टोकन से श्रद्धालुओं को एक फॉर्म भरना होता है जिसमें उन्हें अपना नाम, पिता का नाम, पता और मोबाइल नंबर लिखना होता है।
  • जिस व्यक्ति को नंबर मिलता है उसे बागेश्वर धाम से संपर्क कर हाजिरी की तारीख दी जाती है।
  • उसी दिन बागेश्वर धाम में दर्शन करना होता है।
  • इसमें शामिल होने से पहले भक्तों को तीन रंगों में से किसी एक रंग के कपड़े में एक नारियल बांधना होता है।
  • साधारण भक्तों को एक नारियल को लाल रंग के कपड़े में बांधना चाहिए।
  • वैवाहिक समस्या हो तो नारियल को पीले कपड़े में बांधना चाहिए और यदि भूत-प्रेत बाधा हो तो नारियल को काले कपड़े में बांधकर रखना चाहिए।
  • केवल कुछ ही भक्तों को मंच पर आकर अपनी समस्या रखने का अवसर मिलता है।

यह भी पढ़ें

खाटू श्याम कैसे पहुंचे

जयपुर से खाटू श्याम कैसे पहुंचे

अपने मोबाइल पर अपडेट पाने के लिए क्लिक करें

Bageshwar Dham Sarkar – FAQ’s

Q: बागेश्वर धाम कहां स्थित है?

Ans: बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है।

Q: खजुराहो से बागेश्वर धाम की दूरी, Khajuraho to Bageshwar Dham Distance

Ans: यह बागेश्वर धाम खजुराहो से तकरीबन 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं।

Q: बागेश्वर धाम के लिए अर्जी कैसे लगाएं?

Ans: बागेश्वर धाम के लिए अर्जी घर से भी लगा सकते हैं।

Q: बागेश्वर धाम में टोकन कब मिलेगा 2023?

Ans: बागेश्वर सरकार टोकन ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है। आपको टोकन प्राप्त करने के लिए टोकन वितरण के दिन बागेश्वर धाम जाना होगा।

Q: बागेश्वर धाम कौन से जिले में पड़ता है ?

Ans: बागेश्वर धाम मध्यप्रदेश राज्य के छतरपुर में पड़ता है।

Q: बागेश्वर धाम कब जाना चाहिए?

Ans: मंगलवार को

Q: बागेश्वर धाम वाले गुरुजी का क्या नाम है?

Ans: “श्री धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री” है

Q: बागेश्वर धाम सरकार की फीस कितनी है?

Ans: बागेश्वर धाम सरकार की कोई फीस नहीं है? बागेश्वर धाम सरकार की फीस पूर्णतः निशुल्क है इसके साथ ही आपको यहां 2 टाइम भोजन प्रसादी भी दी जाती है।

Q: बागेश्वर धाम का दरबार कब लगता है?

Ans: बागेश्वर धाम मंदिर में दरबार सप्ताह के सातों दिन लगता है। लेकिन दरबार में मंगलवार एवं शनिवार वाले दरबार को विशेष माना जाता है।

ताजा खबरें सबसे पहले देखने के लिए WhatsApp Group Join करें - Click Here
ताजा खबरें सबसे पहले देखने के लिए Google News Follow करें - Click Here

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button