Teachers Day Speech – टीचर्स डे पर आप बोल सकते हैं यह आसान भाषण

शिक्षक दिवस पर भाषण, Teachers Day Speech In Hindi

Teachers-Day-Speech, टीचर्स-डे-पर-आप-बोल-सकते-हैं-यह-आसान-भाषण
Teachers Day Speech - टीचर्स डे पर आप बोल सकते हैं यह आसान भाषण

Teachers Day Speech – टीचर्स डे पर आप बोल सकते हैं यह आसान भाषण

SearchDuniya.Com

Teachers Day Speech 2021

भारत के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के मौके पर हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है । हर व्यक्ति के जीवन में उसके शिक्षक का सबसे महत्वपूर्ण स्थान होता है । इतना महत्वपूर्ण कि उसे भगवान का दर्जा दिया जाता है । शिक्षक दिवस के दिन स्कूल और कॉलेजों में विशेष कार्यक्रम आयोजित होते हैं जिसमें स्टूडेंट्स टीचर्स पर स्पीच देते हैं । यह दिन शिक्षकों के प्रति प्यार और सम्मान प्रकट करने का दिन होता है । इस टीचर्स डे पर अगर आप भाषण देने वाले हैं तो आप इस तरह का भाषण दे सकते हैं ।

सभी शिक्षक, शिक्षिकाओं और मेरे दोस्तों को मेरा नमस्ते

आज शिक्षक दिवस है । मैं आप सभी को इस दिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं । शिक्षक हमारे जीवन से स्तंभ होते हैं । वह अपना समय देकर हमारे जीवन को संवारते हैं और आगे बढ़ाते हैं । शिक्षक ना सिर्फ हमें शिक्षा देते हैं बल्कि वह हमेशा हमें अच्छा इंसान बनाने की कोशिश करते रहते हैं । उनकी कही बातें ही हमारे जीवन का निखारती हैं ।

इस दिन देश के पहले उपराष्ट्रपति और महान शिक्षाविद डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस होता है जो एक शिक्षक थे । सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान दार्शनिक थे । 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के छोटे से गांव तिरुमनी में जन्मे डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 27 बार नोबेल पुरस्कार के लिए नामित किया गया था । 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया । उन्होंने अपने छात्रों से जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाने की इच्छा जताई थी इसलिए इस दिन को भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

शिक्षक हमारे समाज का निर्माण करते हैं । वहीं हमारे मार्गदर्शक होते हैं । शिक्षक का स्थान माता पिता से भी ऊंचा होता है । माता-पिता बच्चे को जन्म जरूर देते हैं लेकिन शिक्षक उसके चरित्र को आकार देकर उज्वल भविष्य की नींव तैयार करता है । इसलिए हम चाहें कितने भी बड़े क्यों न होने जाए हमें अपने शिक्षकों को कभी नहीं भूलना चाहिए ।

यकीन मानिए, हमें जीवन के हर मुश्किल और अच्छे मोड़ पर टीचर्स की सिखाई बातें याद आती रहेंगी । एक कुम्हार जैसे मिट्टी के बर्तन को दिशा देता है, वैसे ही टीचर्स हमारे जीवन को संवारते हैं ।

टीचर्स ही हमारी प्रेरणा के स्त्रोत हैं जो हमें हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं ।

मैं अपने भाषण का अंत एक अच्छे विचार के साथ करना चाहूँगा

साक्षर हमें बनाते हैं

जीवन क्या है समझाते हैं

जब गिरते हैं हम हार कर तो साहस वही बढ़ाते हैं

ऐसे महान व्यक्ति ही शिक्षक कहलाते हैं

शिक्षक दिवस पर सभी गुरुजनों को कोटि-कोटि प्रणाम

Happy Teachers’ Day

 

यह भी पढे

शिक्षक दिवस पर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के अनमोल विचार जरूर पढे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here