भगवान पर विश्वास रखो वो आपकी मदद जरुर करेगा

दिन चाहे सुख के हों या दुख के, भगवान अपने भक्तों के साथ हमेशा रहते है

भगवान पर विश्वास रखो वो आपकी मदद जरुर करेगा
भगवान पर विश्वास रखो वो आपकी मदद जरुर करेगा

भगवान पर विश्वास रखो वो आपकी मदद जरुर करेगा

प्रेरणादायक कहानी जो आपकी जिंदगी बदल देगी और आपको हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती रहेगी. जीवन में आने वाले कुछ परेशानियों से यह तय नहीं किया जा सकता कि भगवान आपका साथ नहीं दे रहा. भगवान पर विश्वास रखो

वह देर से ही भले पर आपकी सहायता जरूर करते हैं. भगवान पर विश्वास रखो

आज की यह कहानी भगवान के इसी भरोसे के ऊपर है.

इस कहानी को पढ़ने के बाद आपका विश्वास भगवान के ऊपर और भी बढ़ जाएगा.

 

एक अमीर आदमी था, उसने समुद्र मे अकेले घूमने के लिए एक नाव बनवाई

छुट्टी के दिन वह नाव लेकर समुद्र की सेर करने निकला. आधे समुद्र तक पहुंचा ही था कि अचानक एक जोरदार तुफान आया. उसकी नाव पुरी तरह से तहस-नहस हो गई लेकिन वह लाईफ जैकेट की मदद से समुद्र मे कूद गया. जब तूफान शांत हुआ तब वह तैरता तैरता एक टापू पर पहुंचा लेकिन वहाँ भी कोई नही था.

टापू के चारो और समुद्र के अलावा कुछ भी नजर नही आ रहा था.

उस आदमी ने सोचा कि जब मैंने पूरी जिदंगी मे किसी का कभी भी बुरा नही किया,

तो मेरे साथ ऐसा क्यूँ हुआ..?

 

उस आदमी को लगा कि भगवान ने मौत से बचाया तो आगे का रास्ता भी भगवान ही बताएगा.

धीरे धीरे वह वहाँ पर उगे झाड-पत्ते खाकर दिन बिताने लगा

अब धीरे-धीरे उसकी श्रध्दा टूटने लगी, भगवान पर से उसका विश्वास उठ गया. उसको लगा कि इस दुनिया मे भगवान है ही नही. फिर उसने सोचा कि अब पूरी जिंदगी यही इस टापू पर ही बितानी है तो क्यूँ ना एक झोपडी बना लूँ..

 

फिर उसने झाड की डालियो और पत्तो से एक छोटी सी झोपडी बनाई। उसने मन ही मन कहा कि आज से झोपडी मे सोने को मिलेगा आज से बाहर नही सोना पडेगा.

रात हुई ही थी कि अचानक मौसम बदला बिजलियाँ जोर जोर से कड़कने लगी.!तभी अचानक एक बिजली उस झोपडी पर आ गिरी और झोपडी धधकते हुए जलने लगी.

यह देखकर वह आदमी टूट गया आसमान की तरफ देखकर बोला तू भगवान नही, राक्षस है. तुझमे दया जैसा कुछ है ही नही तू बहुत क्रूर है.

वह व्यक्ति हताश होकर सर पर हाथ रखकर रो रहा था. कि अचानक एक नाव टापू के पास आई.

नाव से उतरकर दो आदमी बाहर आये और बोले कि हम तुमे बचाने आये हैं.

दूर से इस वीरान टापू मे जलता हुआ झोपडा देखा तो लगा कि कोई उस टापू पर मुसीबत मे है.

अगर तुम अपनी झोपडी नही जलाते तो हमे पता नही चलता कि टापू पर कोई है. उस आदमी की आँखो से आँसू गिरने लगे.

उसने ईश्वर से माफी माँगी

और बोला कि मुझे क्या पता कि आपने

मुझे बचाने के लिए मेरी झोपडी जलाई थी.

सीख- दिन चाहे सुख के हों या दुख के, भगवान अपने भक्तों के साथ हमेशा रहते है

 

यह भी पढ़ें

अपनी उम्मीद कभी मत हारना पढ़े मोटिवेशनल स्टोरी

 खुद को कभी कमजोर मत समझना मोटिवेशनल स्टोरी देती है जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा

मोटिवेशनल सुविचार पढ़े जो आपकी जिंदगी बदल देंगे

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here